Religious – धार्मिक

प्रेत दशा : विक्षुब्ध जीवात्मा की दयनीय स्थिति – Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news..

जीव चेतना का शरीर मरण के साथ ही अंत नहीं हो जाता। वरन उसका अस्तित्व पीछे भी बना रहता है। इसके प्रत्यक्ष प्रमाण भी बहुधा मिलते रहते हैं। पिछले दिनों यह तथ्य परंपरागत मान्यताओं पर निर्भर था कि मरणोत्तर काल में भी जीवात्मा का अस्तित्व बना रहता है… जीव चेतना का शरीर मरण के साथ ही अंत नहीं हो जाता। ...

Read More »

हल्दी के औषधीय गुण – Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news..

हल्दी एक भारतीय मसाला है, जिसका इस्तेमाल लगभग घर में खाने का टेस्ट बढ़ाने के साथ-साथ स्किन की कई प्रॉब्लम दूर करने के लिए भी किया जाता हैं। हल्दी में विटामिन, मिनरल्ज, फाइबर और प्रोटीन होता है, जो हल्दी को एंटी इंफ्लेमेंटरी, एंटी ऑक्सीडेंट, एंटी फंगल, एंटीसेप्टिक और कैंसर विरोधी घटक बनाने का काम करते हैं। हल्दी का इस्तेमाल जहां ...

Read More »

पल्लिकेश्वर धाम – Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news..

हिमाचल प्रदेश प्राचीन काल से ही देवभूमि के रूप में प्रसिद्ध है और अनेक संस्कृत ग्रंथों एवं शास्त्रों में यहां के कोने-कोने में अवस्थित अनेक तीर्थ स्थलों और मंदिरों के इतिहास को लिपिबद्ध किया गया है। त्रिगर्त प्रदेश के रूप में प्रख्यात जिला कांगड़ा के बैजनाथ शिवधाम और वहां के आसपास के देवस्थलों का जिक्र पढ़ने को मिलता है। बाबा ...

Read More »

ओंकार की व्याख्या व ध्यान तंत्र – Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news..

ओंकार को ब्रह्म कहा गया है। यह परमात्मा का स्वयं सिद्ध नाम है। योगविद्या के आचार्य समाधि अवस्था में पहुंच कर जब ब्रह्म का साक्षात्कार करते हैं, तो उन्हें कुदरत के उच्च अंतराल में ध्वनि होती हुई परिलक्षित होती है… -गतांक से आगे… ओंकार को ब्रह्म कहा गया है। यह परमात्मा का स्वयं सिद्ध नाम है। योगविद्या के आचार्य समाधि अवस्था में पहुंच कर जब ब्रह्म का साक्षात्कार करते ह

Read More »

स्व की खोज है मेडिटेशन – Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news..

गुरुओं, अवतारों, पैगंबरों, ऐतिहासिक पात्रों तथा कांगड़ा ब्राइड जैसे कलात्मक चित्रों के रचयिता सोभा सिंह पर लेखक डा. कुलवंत सिंह खोखर द्वारा लिखी किताब ‘सोल एंड प्रिंसिपल्स’ कई सामाजिक पहलुओं को उद्घाटित करती है। अंग्रेजी में लिखी इस किताब के अनुवाद क्रम में आज पेश हैं ‘मेडिटेशन’ पर उनके विचार … -गतांक से आगे… एक कपटी भगवान के नियमों का उल्लंघन करता है। वह ईमानदार व स

Read More »

अनमोल वचन – Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news..

* लक्ष्यप्राप्ति के लिए अनंत धैर्य आवश्यक है * ईश्वर उपासना एक आवश्यक धर्म कर्त्तव्य है * विश्वास वह शक्ति है, जिससे उजड़ी हुई दुनिया में भी प्रकाश किया जा सकता है * ईश्वर ही सर्वोपरि और सर्वशक्तिमान आराध्य  देव हैं * सच्चे हृदय से की गई सामूहिक प्रार्थना कदापि व्यर्थ नहीं जा सकती * सबसे ज्यादा सुखी वह है ...

Read More »

सद्गुरु की कृपा – Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news..

बाबा हरदेव ‘त्याग’ कैसा? त्याग का अर्थ छोड़ना नहीं है, त्याग का अर्थ जाग कर देखना है कि मेरा संसार में कुछ है ही नहीं, तो फिर छोड़ू क्या फिर  छोड़़ू कैसे? मानो त्याग और ग्रहण दोनों के पार चले जाना, न पकड़ना  न छोड़ना… त्याग की दो धाराएं हैं। एक धारा कहती है कि संसार को छोड़ो तो मनुष्य स्वयं को जान लेगा। दूसरी धारा है, जो कहती है स्वयं को जान लो फिर संसार छूटा ही छूटा। अब

Read More »

सभी धर्मों में योग का महत्‍त्व – Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news..

जिस प्रकार वैदिक धर्म में साष्टांग प्राणायाम, सूर्य नमस्कार और आरती के विभिन्न प्रकार, तंत्र व मंत्र में विभिन्न मुद्राएं यह सिद्ध करने में सक्षम हैं कि योग किसी न किसी रूप में धार्मिक क्रियाओं से जुड़ा हुआ है, ठीक इसी प्रकार से इस्लाम में नमाज भी एक धार्मिक क्रिया है, जिसमें शरीर के विभिन्न अंगों का प्रयोग किया जाता है… योग सभी धर्मों से परे सेहतमंद रहने का एक मूल मंत्

Read More »

श्रीविष्णुपञ्जरस्तोत्र – Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news..

एकादशी तिथि पर भगवान विष्णु के विष्णु पञ्जर स्तोत्र का स्मरण मात्र ही इच्छाओं को पूरा करने वाला माना गया है। माना जाता है कि इसके प्रभाव से ही माता रानी ने भी रक्तबीज व महिषासुर जैसे राक्षसों का अंत किया था। ॥ हरिरुवाच ॥ प्रवक्ष्या यधुना ह्येतद्वैष्णवं पञ्जरं शुभम् । नमोनमस्ते गोविंद चक्रं गृह्य सुदर्शनम्॥ 1॥ प्राच्यां रक्षस्व मां ...

Read More »

आखिर कैसे हुआ अग्नि का जन्म – Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news..

ये विश्वभुक अग्नि ब्रह्मचारी, तथा सदा प्रचुर व्रतों का पालन करने वाले हैं। ब्राह्मण लोग पाकयज्ञों में इन्हीं की पूजा करते हैं। पवित्र गोमती नदी इनकी प्रिय पत्नी हुई। धर्माचरण करने वाले द्विज लोग विश्वभुक अग्नि में ही संपूर्ण कर्मों का अनुष्ठान करते हैं… मार्कंडेय जी कहते हैं, राजन! बृहस्पति जी की जो यशस्विनी पत्नी चांद्रमसी (तारा) नाम से विख्यात ...

Read More »