क्या भूकंप के दौरान भी नमाज पढ़ते रहने वाले मौलाना की तारीफ होनी चाहिए?..

एक तरफ जहां लोग भूंकप में किसी तरह अपनी जान बचाने के रास्ते तलाश रहे थे वहीं दूसरी तरफ खुद की जान जोखिम में डालकर नमाज पड़ते जाना किस तरह की आस्था है?…

( साभार  :-  एजेन्सी / संवाददाता  / अन्य न्यूज़ पोर्टल  )

ताजा खबरों के हिन्दी में अपडेट लगातार पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें, आप हमे ट्विटर पर भी फालो कर सकते है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

इवान डुक ने कोलंबिया के राष्ट्रपति पद की शपथ ली – Punjab Kesari (पंजाब केसरी)


कोलंबिया के बोगोटा में इवान डुक ने प्लाजा डी बोलिवर में आयोजित एक समारोह में राष्ट्रपति पद की शपथ ली। ‘बीबीसी’ की रिपोर्ट के मुताबिक, द कंजर्वेटिव राजनेता इवान डुक (42) सबसे युवा कोलंबियाई राष्ट्रपति हैं। डुक का निर्वाचन जून में चुनाव अभियान के बाद हुआ था। इसमें उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी गुस्तावो पेट्रो को हराया था। शपथ ग्रहण के बाद डुक ने अपने