भारत के ‘एक्सप्रेस’ दिन! – Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news..

एक ही दिन में दो राष्ट्रीय परियोजनाओं का लोकार्पण…, एक ही दिन में दो राजमार्गों को राष्ट्र के नाम समर्पित करना…, लंदन और न्यूयार्क जैसी सड़कों की सौगात…, दरअसल ये कोई सामान्य उद्घाटन नहीं हैं। मात्र राजमार्गों और फ्लाईओवर को देश के लिए खोलने का समारोह भी नहीं है। कई मायनों में ये एक्सप्रेस वे हिंदुस्तान के प्रथम उदाहरण हैं। कभी 14 लेन की सड़क का स्वप्न भी देखा था? कभी एक ही पेरिफेरल राजमार्ग पर पूरे राष्ट्र के स्मारकों को देखने की कल्पना की थी? कभी घंटों की यात्रा मिनटों में सिमटने का एहसास पाला था? ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे और दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे इन्हीं सवालों को साकार करने जा रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली में रोड शो से पहले दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे के दिल्ली खंड का उद्घाटन किया और बाद में बागपत में ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे को जनता के लिए खोला। प्रधानमंत्री के रोड शो को ‘समीक्षा शो’ कहना ज्यादा उचित होगा। हमने देश के किसी भी प्रधानमंत्री को 45-46 डिग्री तापमान की चिलचिलाती गर्मी में खुली जीप में घूमते नहीं देखा। मौका दोहरा था। एक तो देश के नागरिकों के मूड का जायजा लेना और दूसरा 14 लेन की सड़क पर निर्बाध चलने का सुखद एहसास करना। लिहाजा दिल्ली और बागपत की भीड़ ने तपती धूप में प्रधानमंत्री मोदी को सुना, उनकी चार साला योजनाओं का सार समझा और ‘मोदी-मोदी’ के नारों के जरिए एक बार फिर मोदी के प्रति विश्वास और समर्थन बयां किया। ‘भारत माता की जय’ बोलते हुए फूलों की पत्तियां भी प्रधानमंत्री पर बरसाईं। ईस्टर्न वे 135 किलोमीटर लंबा राजमार्ग है, लेकिन कोलकाता से जम्मू आने-जाने वालों को भी जोड़ता है। हिमाचल, पंजाब, हरियाणा, उप्र, राजस्थान आदि राज्यों को तो सीधा लाभ मिलेगा। दरअसल जो लोग दिल्ली में रहते हैं, वे महसूस करते रहे हैं कि राष्ट्रीय राजधानी किस कदर ‘गैस चैंबर’ में तबदील होती जा रही है। प्रदूषण की स्थिति लगातार विकराल होती जा रही है। ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे बनने के बाद न केवल 30 फीसदी प्रदूषण एकदम कम होगा, बल्कि दिल्ली की छाती पर करीब 25,000 ट्रकों  और करीब 45,000 कारों का औसतन बोझ भी घटेगा। करीब 40 फीसदी भारी वाहनों को दिल्ली में प्रवेश ही नहीं करना पड़ेगा। यह मोदी सरकार की बहुतरफा सोच का ही नतीजा है कि आने वाले दिनों में दिल्ली और मेरठ के बीच की दूरी 40-45 मिनट तक ही सिमट जाएगी। उससे औसतन 5 लाख लोगों को फायदा होगा। फिलहाल लंबे जाम के प्रदूषण को झेलते हुए और सांसों में जहर को पीते हुए इस दूरी को तय करने में 2 घंटे से भी ज्यादा का वक्त लगता रहा है। इन दोनों परियोजनाओं के ब्योरे अखबारों के जरिए आप तक पहुंच गए होंगे, लेकिन हम मोदी सरकार की बुनियादी ढांचे की नीति की व्याख्या करना चाहेंगे। यह नीति एक्सप्रेस वे, सड़कों और राजमार्गों तक ही सीमित नहीं हैं। इसमें रेलवे, एयरवे, वाटर वे आदि भी शामिल हैं। एक दिन गंगा नदी भी समंदर से जुड़ेगी और समुद्री जहाजों का आवागमन यह देश देख सकेगा। प्रधानमंत्री मोदी ने खुलासा किया कि करीब 3 लाख करोड़ रुपए की लागत से करीब 28,000 किलोमीटर लंबे नए राजमार्ग बनाने का फैसला लिया गया है। गांव, खेती से जुड़े बुनियादी ढांचे पर 14 लाख करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। ऑप्टिल फाइबर का बिछना भी एक तरह का बुनियादी ढांचा है। कांग्रेस के आखिरी चार सालों में 59 ग्राम पंचायतों में ही ऑप्टिकल फाइबर बिछाया गया था, जबकि मोदी सरकार के चार सालों के दौरान 1 लाख से अधिक पंचायतों को इससे जोड़ा गया है। कांग्रेस नेतृत्व की यूपीए सरकार के दौरान एक दिन में औसतन 12 किमी राजमार्ग बनता था, जबकि मोदी सरकार में औसतन 27 किमी राजमार्ग बनाया जा रहा है। यह बुनियादी धारणा है कि यदि आधारभूत ढांचे का विस्तार दुरुस्त होगा, तो बहुराष्ट्रीय कंपनियां भारत में कारोबार करने को आएंगी, लिहाजा विदेशी मुद्रा कोष 419 अरब डालर से कहीं अधिक हो सकता है। सिर्फ रोजगार, किसान, दलित, आदिवासी के मुद्दों पर मोदी सरकार को घेरने वाले विपक्ष को प्रधानमंत्री मोदी ने करारे जवाब दिए और कहा कि बुनियादी ढांचे के काम में जिन लाखों लोगों की मेहनत लगी है, क्या वे रोजगार नहीं हैं? बहरहाल यह संपादकीय हम बुनियादी ढांचे तक ही सीमित रखेंगे और राजनीति की बात बाद में होती रहेगी, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी की एक सोच पर मुहर लगानी पड़ेगी कि ‘मेरे लिए देश ही मेरा परिवार है और उनके लिए परिवार ही देश है, लिहाजा मोदी का विरोध करके देश का विरोध किया जा रहा है।’
अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर-  निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन!
. भारत के ‘एक्सप्रेस’ दिन! appeared first on Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news….

( साभार  :-  एजेन्सी / संवाददाता  / अन्य न्यूज़ पोर्टल  )

ताजा खबरों के हिन्दी में अपडेट लगातार पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें, आप हमे ट्विटर पर भी फालो कर सकते है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

शिमला की इमारतें गुनहगार – Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news..

...