कर्नाटक में राज्यपाल द्वारा उठाया गया कदम लोकतंत्र की हत्या : रघुवंश प्रसाद..

पटना : राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह पूर्व केन्द्रीय मंत्री डा. रघुवंश प्रसाद सिंह ने राष्ट्रीय जनता दल कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि कर्नाटका में राज्यपाल के द्वारा येदुरप्पा के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनाये जाने पर प्रश्नचिन्ह उठाते हुए कहा कि कर्नाटका में राज्यपाल के द्वारा उठाया गया यह कदम लोकतंत्र की हत्या है।
उन्होंने सुप्र्रीम कोर्ट के द्वारा एस. आर. वोम्बई केस में जो जजमेंट दिया गया था उसका जिक्र करते हुए कहा कि जजमेंट में कहा गया था कि अगर त्रिशंकु विधानसभा होती है तो ऐसी स्थिति में सबसे पहले राज्यपाल को चुनाव पूर्व गठबंधन वाले दल को सरकार बनाने के लिए बुलाया जाना चाहिए था अगर उनके पास बहुमत नहीं है तो चुनाव बाद बनने वाले गठबंधन को सरकार बनाने के लिए बुलाया जाना चाहिए। अगर दोनों के पास बहुमत नहीं हो तो सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने के लिए बुलाया जाना चाहिए। लेकिन कर्नाटका में यह नहीं हुआ।

उन्होंने बताया कि भारतीय जनता पार्टी एवं आरएसएस के इशारे पर राज्यपाल ने चुनाव बाद वाले बहुमत के गठबंधन को नकार कर सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने का न्यौता दे दिया और बहुमत साबित करने के लिए एक लंबा समय यानि 15 दिन देकर विधायकों को खरीद-फरोख करने का रास्ता खोल दिया। अगर राज्यपाल ने कर्नाटका में सही कदम उठाया तो बिहार में राष्ट्रीय जनता दल सबसे बड़ी पार्टी थी तो किस आधार पर जदयू एवं भाजपा गठबंधन को सरकार बनाने का न्योता दिया। अगर कर्नाटका सही थी तो बिहार का निर्णय गलत।
क्या प्रधानमंत्री इस गलती के सार्वजनिक तौर पर माफी मांगेंगे और राजद को फिर से मौका दिया जायेगा? कर्नाटका में लोकतंत्र की हत्या के खिलाफ प्रदेश राष्ट्रीय जनता दल की ओर से कल 18 मईए 2018 को एक दिवसीय धरना का आयोजन किया गया है और संविधान बचाओ अभियान को राष्ट्रव्यापी बनाया जायेगा। इस संवाददाता सम्मेलन में राजद प्रवक्ता शक्ति सिंह यादव, राष्ट्रीय परिषद सदस्य भाई अरूण कुमार के अलावा उपेन्द्र कुमार चन्द्रवंशी, केदार यादव, मंजू सिंह एवं मो. इसराईल मंसुरी भी मौजूद थे।
24X7 नई खबरों से अवगत रहने के लिए क्लिक करे।…

( साभार  :-  एजेन्सी / संवाददाता  / अन्य न्यूज़ पोर्टल  )

ताजा खबरों के हिन्दी में अपडेट लगातार पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें, आप हमे ट्विटर पर भी फालो कर सकते है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

एकीकृत अपशिष्ठ प्रबंधन के लिए 1640 करोड़ आवंटित..

...