भाजपा सभासद की हत्या में पुलिस ने किया खुलासा, पुरानी रंजिश के चलते रची गई साजिश..

रिपोर्ट- सईद राजा
इलाहाबाद। भाजपा सभासद पवन केसरी की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है हलांकि गोली मारने वाले शूटरों को पकड़े बिना ही पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा किया है। घटना की साजिश रचने वाले 6 नामजद अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि पुरानी रंजिश के चलते आरोपी सोनू ने हत्या की साजिश रची थी पुलिस की गहन पूछताछ में पता चला की गोली मारने वाले और रेकी करने वाले अभी फरार है । फरार तीनो अभियुक्तों को वंचित किया है और उनपर जल्द ही  25000 का इनाम घोषित किया जाएगा।
गिरफ्तार आरोपी
एसएसपी नितिन तिवारी ने मृतक पवन केसरी की हत्या का खुलासा करते हुए बताया कि 8 मई की रात को एक आरोपी उसको घर छोड़ने जा रहा था तभी रास्ते में बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी जबकि साथी आरिफ को छोड़ दिया था फायरिंग में एक महिला को भी गोली लगी थी।
यह भी पढ़े: फ्लाईओवर हादसे में अबतक 18 की मौत, सीएम ले रहे पल-पल की जानकारी
पोस्टमार्टम रिपोर्ट की पड़ताल में पता चला कि पवन के कान के ऊपर व नीचे दो गोली मारी गई थी जबकि तीसरी गोली सीने में लगी थी। कड़ी पूछताछ की गई तो पुलिस ने बताया कि  सोनू उर्फ़ सिराज ने पवन की एक महीना पहले हत्या की साजिश रची थी इसमें 9 लोग शामिल थे।
अभी तक मामले में पुलिस ने छह नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है जबकि मुख्य शूटर साजन और राजू फरार है जबकि घटना की रेकी करने वाला एक और अभियुक्त पुलिस की पकड़ से बाहर है।
. भाजपा सभासद की हत्या में पुलिस ने किया खुलासा, पुरानी रंजिश के चलते रची गई साजिश . | …..

( साभार  :-  एजेन्सी / संवाददाता  / अन्य न्यूज़ पोर्टल  )

ताजा खबरों के हिन्दी में अपडेट लगातार पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें, आप हमे ट्विटर पर भी फालो कर सकते है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

किसानों पर पड़ रही सूखे की मार, सपा नेता ने सरकार के सामने रखी डिमांड..

रिपोर्ट-अमरिल लाल बस्ती। जिले को सूखा घोषित कराने के लिए समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता और किसानों ने पूरे शहर में जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया और जिलाधिकारी के माध्यम से महामहिम राज्यपाल  को एक ज्ञापन भिजवाया वही समाजवादी नेता महेंद्र नाथ यादव ने कहा कि 15 जुलाई तक अगर बारिश नहीं होती तो जिले को सूखा घोषित कर दिया जाता है लेकिन प्रदेश सरकार की मशीनरी पूरी तरह फेल है कि