भूख हड़ताल पर बैठे एएमयू के छात्र, हिन्दूवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग..

रिपोर्ट- अर्जुन देव
अलीगढ़। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में छात्र अपनी मांगों को लेकर भूख हड़ताल पर बैठे हैं। विश्वविद्यालय के बाबे सैयद गेट पर चल रहा धरना अब भूख हड़ताल में कन्वर्ट हो गया है। एएमयू छात्र संघ के पदाधिकारी और छात्र-छात्राएं मांगों को लेकर 14 दिन बाबे सैय्यद गेट पर बैठे हैं।
अनशन पर बैठे छात्र
धरने पर बैठने वालों का कहना है कि जिन्ना की तस्वीर उतारने एएमयू पहुंचे हिंदू जागरण मंच व हिन्दूवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं को तत्काल गिरफ्तार किया जाए । छात्रों ने कहा है कि अन्य मांगे पूरी होंगी तभी भूख हड़ताल खत्म करेंगे।
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय प्रशासन की एएमयू छात्रसंघ के साथ हो रही लगातार बैठकों के बावजूद छात्र अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठ गये हैं ,  छात्र पिछले 14 दिन धरने से धरने पर बैठे थे।  मांगे पूरी नहीं होने पर छात्र अब भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं।  छात्रसंघ अध्यक्ष मशकूर अहमद उस्मानी, सचिव मोहम्मद फहद , उपाध्यक्ष सज्जाद , पूर्व अध्यक्ष फैजुल हसन, नवीन उस्मानी भी भूख हड़ताल पर बैठे हैं।
यह भी पढ़े: बंगाल पंचायत चुनाव: सख्त सुरक्षा के बीच आज 568 बूथों पर पुनर्मतदान
एएमयू प्रशासन से लगातार हो रही बैठकों में कोई निष्कर्ष नहीं निकल पा रहा है । छात्र संघ की आम सभा के निर्णय ने एएमयू  प्रशासन और जिला प्रशासन की चिंता बढ़ा दी है ।  छात्रों के आंदोलन को समाप्त करने के लिए बीच का कोई रास्ता नहीं निकल पा रहा है।  इस दौरान भूख हड़ताल पर बैठी छात्रा आरफा  व रीवा अली की हालत बिगड़ने पर उन्हें जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।
यह भी पढ़: मतगणना के बाद कर्नाटक चुनाव में जेडीएस नहीं यह शख्स बना किंगमेकर
अनशनकारी छात्र 2 मई को एएमयू छात्रों पर हुई लाठी चार्ज एवं परिसर में हुई घटना की न्यायिक जांच की मांग कर रहे हैं । वही प्रदर्शनकारियों ने घोषणा की है कि इस आंदोलन का एएमयू की परीक्षाओं पर किसी प्रकार का व्यवधान  नहीं पड़ेगा ।

. भूख हड़ताल पर बैठे एएमयू के छात्र, हिन्दूवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग . | …..

( साभार  :-  एजेन्सी / संवाददाता  / अन्य न्यूज़ पोर्टल  )

ताजा खबरों के हिन्दी में अपडेट लगातार पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें, आप हमे ट्विटर पर भी फालो कर सकते है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

किसानों पर पड़ रही सूखे की मार, सपा नेता ने सरकार के सामने रखी डिमांड..

रिपोर्ट-अमरिल लाल बस्ती। जिले को सूखा घोषित कराने के लिए समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता और किसानों ने पूरे शहर में जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया और जिलाधिकारी के माध्यम से महामहिम राज्यपाल  को एक ज्ञापन भिजवाया वही समाजवादी नेता महेंद्र नाथ यादव ने कहा कि 15 जुलाई तक अगर बारिश नहीं होती तो जिले को सूखा घोषित कर दिया जाता है लेकिन प्रदेश सरकार की मशीनरी पूरी तरह फेल है कि