बलिया जिले में शीघ्र ही शिशु स्वागत केंद्र (पालना) सुरु किया जाएगा।

बलिया ब्यूरो, :–प्रमुख सचिव महिला व बाल विकास उ० प्र० शासन पत्र सं०839/60-1-18/13(100) 17/18 अप्रैल 2018 के अनुसार समेकित बाल संरक्षण योजना के अंतर्गत जिले में अति शीघ्र “पालना” (शिशु स्वागत केंद्र) स्थापित किये जायेंगे। यह केंद्र जिला अस्पताल, बालगृह, दत्तक गृह इकाई, चाइल्ड लाइन, कार्यालयों में खोले जाएंगे। जिसमे कोई भी अपने अनचाहे बच्चे को नालियों, झाड़ियों में फेकने के बजाय “पालना” में सुरक्षित रख कर चुपचाप जा सकते है। ऐसे बच्चों का लालन पालन राज्य सरकार करेगी क्यो की अक्सर ऐसे परिस्थितियों में नाले, झाड़ियों या ऐसे जगह अनचाहे शिशुओं को छोड़ जाते है जहाँ किसी का ध्यान नहीं जाता फिर उन्हें आवारा कुत्ते या जानवर अपना शिकार बना लेते हैं। इन केंद्रों पर शिशुओं के प्राथमिक उपचार की ब्यवस्था भी उपलब्ध होगी तथा निगरानी के लिए जिलाधिकारी द्वारा 24 घण्टे सातो दिन हेल्प लाइन संचालित कराया जाएगा।
इस आशय की जानकारी न्यायपीठ बाल कल्याण समिति के सदस्य राजू सिंह ने दिया उन्होंने बताया कि शिशु स्वागत केन्द्र (पालना) पर बच्चे की सूचना होते ही किशोर न्याय अधिनियम 2015 के अंतर्गत कार्यवाही प्रारम्भ करेगी तथा शिशु के पूर्ण रूप से स्वस्थ्य होने पर अस्पताल से अवमुक्त होने के पश्चात जनपद के लिए आच्छादित विशेषज्ञ दत्तक ग्रहण इकाई ने में स्थानांतरित करेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

जनपद बल्लिया में प्रांतीय कार्यकारिणी के आह्वान पर दिनांक 21-05-18 से 23-05-18 तक जिला मुख्यालय पर होने वाले अनिश्चित कालीन धरने के संबंध में।

...