सीरिया को अमेरिका की खुली चेतावनी, कहा- भारी पड़ेगा रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल

वाशिंगटन। अमेरिकी रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस ने रासायनिक हथियार इस्तेमाल करने को लेकर सीरिया को चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि इसके इस्तेमाल से उसे खामियाजा भुगतना पड़ सकता है जैसा कि पिछले साल इसका इस्तेमाल करने पर डोनाल्ड ट्रंप ने सीरियाई हवाई अड्डे पर हमला करने के आदेश दिए थे।
व्हाइट हाउस की बड़ी चुनौती… हल निकालने के बाद भी टेंशन में ट्रंप, सता रहा इस बात का डर
रासायनिक हथियार
सीएनएन के मुताबिक, मैटिस ने कहा, “मैं बस इस बात को दोहराना चाहता हूं कि उनके द्वारा हथियार के रूप में रासायनिक गैस का इस्तेमाल करना मूर्खता होगी।”
उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि ट्रंप ने अपने प्रशासन की शुरुआत में ही इस पर अपना रुख स्पष्ट कर दिया था।”
मैटिस ने ओमान की उड़ान के दौरान ये बातें कहीं।
फ्रांस में गिरफ्तार किया गया पीआईए का फ्लाइट स्टेवर्ड, अधिकारियों ने बरामद किया ड्रग्स
सीरिया में रासायनिक हथियारों के भंडार के लिए मैटिस ने रूस को जिम्मेदार ठहराया, जिस पर रूस ने कहा कि वह साल 2013 में हुए समझौते के तहत इसे समाप्त करने में मदद करेगा। हालांकि, अमेरिका और अंतर्राष्ट्रीय पर्यवेक्षकों ने इस बारे में कहा कि सीरिया ने पिछले साल नागरिकों पर रासायनिक हथियार का इस्तेमाल किया।
उन्होंने कहा कि रूस इस बात का गारंटर था कि सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद इस सब से छुटकारा पा लेंगे।
मैटिस ने कहा या तो रूस ऐसा करने में अक्षम है या फिर वह असद के साथ बराबर का भागीदार है।
सीएनएन के मुताबिक, मैटिस ने उच्च तकनीक वाले रूसी मिसाइलों के बारे में की गई बड़ी-बड़ी बातों को लेकर संदेह व्यक्त किया है। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने दावा किया था कि ये मिसाइल अजेय हैं और असीमित रेंज वाले हैं।
मैटिस ने कहा कि उन्हें रणनीतिक मूल्यांकन करने के लिए भुगतान किया जाता है और उन्हें रूसी सैन्य क्षमता में कोई बदलाव नहीं नजर आया।
देखें वीडियो :-

. सीरिया को अमेरिका की खुली चेतावनी, कहा- भारी पड़ेगा रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल . | …..

( साभार  :-  एजेन्सी / संवाददाता  / अन्य न्यूज़ पोर्टल  )

ताजा खबरों के हिन्दी में अपडेट लगातार पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें, आप हमे ट्विटर पर भी फालो कर सकते है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

PM मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से मुलाकात की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) शिखर सम्मेलन से इतर यहां चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से मुलाकात की और द्विपक्षीय सहयोग के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की। इससे वुहान में उनकी पहली अनौपचारिक शिखर वार्ता के बाद संबंधों में आई गर्माहट को कायम रखने के दोनों देशों के प्रयास के संकेत मिलते हैं। दो नों नेताओं की बैठक चीन के शहर वुहान में अनौपचारिक बातचीत के करीब छह